Visit of the President of France to China

फ्रांस के राष्ट्रपति की चीन यात्रा
Visit of the President of France to China
Visit of the President of France to China


जनवरी के शुरुआत में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो विजन पहुंचे पहुंच कर
फ्रांस के राष्ट्रपति ने चीन की प्राचीन सभ्यता के रूप में प्रशंसा की लेकिन उनका
असली मकसद चीन और यूरोप के व्यापारिक संबंधों  को 21 वीं सदी के अनुकूल
बनाना था डोनाल्ड ट्रंप पश्चिमी देशों के राष्ट्रीय अध्यक्षों का मानना है कि चीन
पश्चिमी देशों के व्यापारी कानूनों की अवहेलना करता आ रहा है फ्रांस राष्ट्रपति
ऐसी उम्मीद करते हैं कि  चीन पश्चिमी यूरोपीय देशों के व्यापारी कानूनों का पालन
करें चीन अमेरिका से ज्यादा निवेश  यूरोप में  करता रहा है इसका मुख्य कारण यह
है कि इनके व्यापारियों को ऐसा लगता है कि यूरोपीय संघ के देशों में उनके लिए
अमेरिका के मुकाबले अधिक अवसर उपलब्ध है इसी कारण इन्हीं व्यापारियों का
व्यापार यूरोपीय देशों के साथ अधिक है जबकि अमेरिकी संग में यूरोप के मुकाबले
व्यापार कम है इसका मुख्य कारण यह है कि यूरोपीय देशों में अलग-अलग कानून
प्रक्रियाएं है जबकि अमेरिकी राज्यों के लिए एक ही कानून का निर्माण किया गया है
जिस कारण उनके कानून को तोड़ना और किसी अमेरिकी राज्य के साथ व्यापारिक
संबंध बनाने चीनी व्यापारियों को मुश्किल लगते हैं अतः इनका यूरोपीय देशों के साथ
अधिक व्यापार होने का यह मुख्य कारण माना गया है वर्तमान में यूरोपीय संघ के देश
भी अपने कानूनों को खड़ा करने की कोशिश में लगे हुए हैं इसकी शुरुआत जर्मनी ने
एक कंप्यूटर चिप बनाने वाली कंपनी के लिए चीनी कंपनियों को मंजूरी देने से इंकार
कर दिया थोड़े दिनों बाद जर्मनी योग का पहला देश बन गया जिसमें विदेशी कानूनों
कड़े करने का फैसला किया

Previous
Next Post »

The Secret Of Mistral (wind)

Mistral (wind) The mistral wind (Catalan: Mestral, Greek: Μαΐστρος, Italian: Maestrale, Corsican: Maestral ) is a strong, cold, northw...