Rajasthan Railway Project

राजस्थान रेलवे प्रोजेक्ट
Rajasthan Railway Project
Rajasthan Railway Project


भारत के छेत्रफल के हिसाब से सबसे बड़े राज्य राजस्थान इसका क्षेत्रफल 342239 किमी है
रेलवे के लिहाज से सबसे पिछड़ा राज्य माना जाता है पिछले 21 साल में 7336 करोड़ के 6
बड़े रेल प्रोजेक्ट प्रदेश को दिए गए थे लेकिन इनमें से आज तक भी एक भी प्रोजेक्ट पूरा नहीं
हुआ है यह रेल प्रोजेक्ट दशकों से कतार में लगे हुए पड़े हैं रेलवे के पिछड़ेपन के कारण राज्य
में अन्य राज्यों के मुकाबले परिवहन सुविधाओं का अभाव महसूस किया गया है तथा रोजगार के
अवसरों की भी कमी रही है डूंगरपुर बांसवाड़ा रतलाम रेल लाइन प्रोजेक्ट को 2011- 12 में प्रारंभ
किया गया तब इसकी लागत पहनती 100 करोड़ रुपए मानी गई  यह प्रोजेक्ट राज्य सरकार व
रेलवे के मध्य 50: 50 के अनुपात में बांटा गया था तथा जमीन पर मुआवजा राशि राज्य सरकार
को देनी थी इस एवज में राज्य सरकार ने ₹200 दिए तथा कुल 221 करोड रुपए का है इस प्रोजेक्ट
के तहत किया गया परंतु 2016 के बाद राज्य सरकार का सहयोग बंद हो जाने के कारण यह प्रोजेक्ट
की अधूरा पड़ा है इस प्रोजेक्ट का 15% ही कार्य हो पाया है अगर यह प्रोजेक्ट समय पर पूरा हो
जाता तो राज्य में रोजगार के नए अवसर खुलते तथा राज्य में बैठे हुए आपको बेरोजगार को रोजगार
मिलता ऐसा ही कुछ हाल पुष्कर मेड़ता रेल लाइन प्रोजेक्ट का भी है पुष्कर मेड़ता रेल प्रोजेक्ट
4 साल पहले मंजूर किया गया था लेकिन अभी भी इसका कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है जयपुर जयपुर
सीकर के प्रोजेक्ट 9 साल भी अधूरा है 2009 में जयपुर सीकर रेल लाइन के लिए 982 करोड रुपए
स्वीकार किए  गए अजमेर-कोटा पाया जालंधरी 145 किमी की योजना बनाई गई थी लेकिन इस योजना
में भी  अभी तक किसी प्रकार का कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है इसी प्रकार राजस्थान में 21 साल में

लगभग 736 करोड़ के 6 बड़े प्रोजेक्ट मिले हैं लेकिन पूरा आज तक कोई भी नहीं हो पाया है

Previous
Next Post »

The Secret Of Mistral (wind)

Mistral (wind) The mistral wind (Catalan: Mestral, Greek: Μαΐστρος, Italian: Maestrale, Corsican: Maestral ) is a strong, cold, northw...